Latest news : आर्थिक : शेयर बाजार हुआ धड़ाम, सेंसेक्स 500 अंक और निफ्टी 168 अंक नीचे| कानून : केजरीवाल को 2 जून को करना होगा सरेंडर, SC ने नहीं स्वीकारी अंतरिम जमानत बढ़ाने की याचिका| राजकोट TRP गेम जोन केस: 5वें आरोपी किरीट सिंह जडेजा को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार| जम्मू-कश्मीर : पुंछ में LoC के पास संदिग्ध पाक ड्रोन पर BSF ने की फायरिंग| छिंदवाड़ा: एक ही परिवार के 8 लोगों की कुल्हाड़ी मार कर हत्या, हत्यारे ने की खुदखुशी|

election 2022

मोदी लहर बरकरार फिर आया योगीराज

मोदी लहर बरकरार फिर आया योगीराज

यूपी में दोबारा विस चुनाव जीतकर भाजपा ने सारे मिथक तोड़ेजनता ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल पर मुहर लगाई2014 के बाद हर चुनाव में भाजपा ने जीत का नया रिकार्ड बनाया2017 विधान सभा और 2019 लोकसभा का प्रदर्शन दोहराया मनीष शुक्ल दिल्ली में मोदी जी, यूपी में बाबा...आँख के आंधर पूछ्त राहे यूपी मा का बा...’ होली के पहले ही यूपी में भगवा रंग गुलाल उड़ाकर भाजपा कार्यकर्ता यही गाना गा रहे हैं। भाजपा ने उत्तर प्रदेश में एकबार फिर सारे मिथक तोड़ दिये हैं। योगी- मोदी की डबल इंजन सरकार पर जनता ने दोबारा मुहर लगा दी है।…
Read More
राजतिलक की करो तैयारी, फिर करेंगे सत्ता की सवारी!

राजतिलक की करो तैयारी, फिर करेंगे सत्ता की सवारी!

एक्ज़िट पोल से लेकर मोदी- योगी और अखिलेश की अग्नि परीक्षामहीने भर के लंबे चुनावी सफर के बाद दस मार्च को मतगणनासियासी सुगबगाहट के बीच कांग्रेस ने सपा को समर्थन देने के दिये संकेतगृहमंत्री अमित शाह और बसपा सुप्रीमो कर चुके हैं एक- दूसरे की तारीफ मनीष शुक्ल एक महीने के लंबे चुनावी सफर के बाद 2022 में यूपी की सत्ता की तस्वीर 2017 जैसी ही नजर आ रही है। ऐसे में एकबार फिर तमाम एक्ज़िट पोल की विश्वसनीयता दांव पर है। दस मार्च को यह भी तय होने जा रहा है कि जनता को योगीराज पसंद है या फिर…
Read More
वाराणसी : काशी में फिर कमल खिलाने को मोदी मोर्चे पर

वाराणसी : काशी में फिर कमल खिलाने को मोदी मोर्चे पर

मनीष शुक्‍ल हमने नमाजें भी पढ़ी है, गंगा तेरे पानी से वजू करके… ये बनारस है। मां गंगा का आंचल, जो सबको छांव देता है। क्‍वेटो बनने के सपने के बीच गली- गली में गंगा- जमुनी तहजीब जीता शहर। यह बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी है। जिसको प्रधानमंत्री मोदी ने बंधनों से मुक्त कर दिया है। अब माँ गंगा अपने शिव को निहारती हैं। पीएम के संसदीय क्षेत्र में भाजपा विकास की गंगा बहाने का दावा करती है तो विपक्ष यहाँ पर हर बार सरकार को घेरने की कोशिश करता है। इस बार भी आखिरी चरण में सात मार्च को…
Read More
छोटे दल निभाएंगे बड़ी सियासी भूमिका

छोटे दल निभाएंगे बड़ी सियासी भूमिका

अपना दल, सुभाषपा, निषाद पार्टी, वीआईपी, महान दल और जनवादी पार्टी पर निगाहेंपिछली बार भाजपा गठबंधन ने आखिरी दौर में जीती थी 72 सीटें, सपा 11, बसपा छह पर थे मनीष शुक्ल अगले नौ दिनों बाद उत्तर प्रदेश में सत्ता का नया चेहरा साफ हो जाएगा उत्तर प्रदेश की 18 वीं विधानसभा में सत्ता के गलियारे में पहुँचने वाले 403 माननीय विधायक लखनऊ जाने की तैयारी में होंगे। किसी बड़े राजनीतिक दल के सिर पर जीत का सेहरा भी सजा होगा। लेकिन इस जीत के सेहरे को सजाने में छोटे दल बड़ी सियासी भूमिका में होंगे। 2022 के आखिरी दो…
Read More
छठवाँ चरण : योगी फिर खिलाएँगे कमल या विपक्ष को सत्ता का ‘हार’

छठवाँ चरण : योगी फिर खिलाएँगे कमल या विपक्ष को सत्ता का ‘हार’

गोरखपुर तथा बस्ती मंडल पिछली बार 41 विधान सभा सीटों  में से 37 सीट भाजपा गठबंचन ने जीती थी मनीष शुक्ल बुद्ध की धरती पर राजनीतिक दलों का महसंग्राम आखिरी चरण में पहुँच चुका है। छठवें चरण के चुनाव में सबकी निगाहें पूर्वांचल के आंचल गोरखपुर तथा बस्ती मंडल पर लगी हैं। इस समूचे क्षेत्र में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ का गहरा प्रभाव देखने को मिलता है। भाजपा ने पिछली बार 2017 के चुनाव में समूचे पूर्वांचल में सीटों का शतक लगाया था। 2022 के चुनाव में मुख्यमंत्री और गोरक्षपीठ के महंत योगी आदित्यनाथ खुद यहाँ गोरखपुर सीट…
Read More
पाँचवाँ चरण : रामलला लगाएंगे भाजपा की नैया पार!

पाँचवाँ चरण : रामलला लगाएंगे भाजपा की नैया पार!

12 जिलों की 61 सीटों पर कुल 693 प्रत्याशियों के भाग्य का होगा फैसला प्रदेश में पांचवें चरण के चुनाव के लिए मतदान की तैयारी पूरी हो चुकी है। अयोध्या से लेकर प्रयाग राज और चित्रकूट तक 12 जिलों के दो करोड़ से ज्यादा मतदाता 61 सीटों पर कुल 693 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करने जा रहे है। यह वही बेल्ट है जहां राम मंदिर आंदोलन का श्री गणेश हुआ जिसके बाद तीन दशकों में देश की राजनीति का चेहरा ही बदल गया। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद जनता रामलला का भव्य मंदिर बनते देख रही है। यहाँ…
Read More
वोटिंग में कमी, भाजपा को फायदा या नुकसान

वोटिंग में कमी, भाजपा को फायदा या नुकसान

आनन्द अग्निहोत्री उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव के चौथे चरण में भी मतदान में 3.43 फीसदी की गिरावट दर्ज की गयी। वर्ष 2017 के चुनाव में मतदान में बढ़ोत्तरी हुई थी। मतदान में वृद्धि का नतीजा विपक्ष की जीत के रूप में सामने आया था। तब भारतीय जनता पार्टी विपक्ष में थी और उसे सरकार बनाने का अवसर मिला था। लेकिन अब तक चारों चरणों के मतदान में वोटिंग प्रतिशत गिरा है। मतदान में गिरावट का यह रुख क्या नतीजा सामने लायेगा, गारंटी के साथ नहीं कहा जा सकता। सामान्यत: माना जा रहा है कि यह भाजपा सरकार के पक्ष…
Read More
गाँव- गाँव दोबारा कमल खिलाने की चुनौती

गाँव- गाँव दोबारा कमल खिलाने की चुनौती

अवध की धड़कन लखनऊ के गांव आजादी की क्रांति से लेकर आमों की मिठास के लिए दुनियाभर में जाने जाते हैं। अमराइयों का शहर मलिहाबाद,  ऐतिहासिक काकोरी,  मोहनलालगंज, गोसांईगंज, चिनहट और इटौंजा के लोग दल से ज्‍यादा दिलों पर भरोसा करते हैं। यहां के ग्रामीण क्षेत्र में मलिहाबाद, बख्‍शी का तालाब, सरोजनी नगर और मोहनलाल गंज विधानसभा सीटें आती हैं। दशहरी आम की तरह ही यहां  की राजनीति में कौशल किशोर, राजेश्वर सिंह, अभिषेक मिश्र, आरके चौधरी, गोमती यादव जैसे दिग्‍गज नेताओं का जलवा राजनैतिक दलों से कहीं ज्‍यादा है। आजादी के बाद से इस समूची बेल्‍ट में कांग्रेस ने…
Read More
लखनऊ शहर : “अटल” विरासत की हिफाजत को वोटर मैदान में

लखनऊ शहर : “अटल” विरासत की हिफाजत को वोटर मैदान में

अदब और तहजीब के इस शहर ने देश और दुनिया को बड़े- बड़े नेता दिए हैं। देश के मौजूदा रक्षामंत्री राजनाथ सिंह उत्‍तर प्रदेश की राजधानी से सांसद हैं। भाजपा के दिग्गज नेता रहे लाल जी टंडन यहाँ लोगों के अभिभावक के तौर पर जाने- जाते थे। मेयर दिनेश शर्मा इस शहर का पढ़ा- लिखा चेहरा हैं लेकिन नवाबों के बाद लखनऊ की पहचान केवल अटल जी ही हैं। पुराने लखनऊ से लेकर शिया मुसलमान आज भी बार- बार अटल जी को याद करता है। देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई भले ही अब ब्रह्मलीन हों लेकिन भाजपा हो…
Read More
जाति और धर्म के भंवर में डूबता-उतराता मतदाता

जाति और धर्म के भंवर में डूबता-उतराता मतदाता

आनन्द अग्निहोत्री चुनाव आयोग पिछले कुछ चुनावों से प्रयास कर रहा है कि चुनाव जाति और धर्म विहीन हों, लेकिन वह जितना प्रयास करता है उसकी तुलना में चुनाव जाति और धर्म ज्यादा ही पैठ बनाता जा रहा है। हर बार चुनाव आयोग आचार संहिता में इस बात का विशेष उल्लेख करता है कि मतदाताओं को जाति और धर्म की धारा में न उलझायें लेकिन यह धारा निरन्तर गहरी होती जा रही है। यह धारा काफी हद तक चुनाव परिणामों को प्रभावित करती है। पहले चरण के मतदान में भी देखने को मिला था कि मुस्लिम बहुल सीटों पर ज्यादा…
Read More