Latest news : आर्थिक : शेयर बाजार हुआ धड़ाम, सेंसेक्स 500 अंक और निफ्टी 168 अंक नीचे| कानून : केजरीवाल को 2 जून को करना होगा सरेंडर, SC ने नहीं स्वीकारी अंतरिम जमानत बढ़ाने की याचिका| राजकोट TRP गेम जोन केस: 5वें आरोपी किरीट सिंह जडेजा को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार| जम्मू-कश्मीर : पुंछ में LoC के पास संदिग्ध पाक ड्रोन पर BSF ने की फायरिंग| छिंदवाड़ा: एक ही परिवार के 8 लोगों की कुल्हाड़ी मार कर हत्या, हत्यारे ने की खुदखुशी|

nepal

भारत- नेपाल : रोटी- बेटीन भाषा- बोली का रिश्ता है हिमालय के प्रहरी से

भारत- नेपाल : रोटी- बेटीन भाषा- बोली का रिश्ता है हिमालय के प्रहरी से

डॉ विजय पंडित अध्यक्ष हिन्दी अकादमी नेपाल नेपाल भारत के उत्तर में लगभग 500 मील की लम्बाई में पूरब से पश्चिम तक फैला नेपाल जहाँ अपनी नैसर्गिक सुषमा और संपदा के लिए एशिया का स्विटजरलैंड कहा जा सकता है, वहीं अपने शौर्य एवं वीरता तथा सांस्कृतिक चेतना के लिए हिमालय की गोद में पला यह राष्ट्र हिमालय की ही तरह एशिया का सजग प्रहरी भी कहा जा सकता है। इस राष्ट्र ने अपनी सजगता का परिचय बारहवीं शताब्दी से ही देना शुरू कर दिया था, जब भारत पर पश्चिम से लगातार आक्रमणों का नया दौर प्रारंभ हुआ था। तब से…
Read More
भारत नेपाल के दिलों को थोड़ा और करीब ला रहा साहित्य

भारत नेपाल के दिलों को थोड़ा और करीब ला रहा साहित्य

मनीष शुक्ल वरिष्ठ पत्रकार व साहित्यकार हाल ही में नेपाल की राजधानी काठमाण्डू के चन्द्र्गिरी पर्वत पर दोनों देशों के साहित्यकारों ने हिन्दी और नेपाली भाषा साहित्य को और करीब लाने के लिए ऐतिहासिक घोषणा पत्र जारी किया। इस घोषणा पत्र को तैयार करने की समिति में भारत की ओर से मुझे भी शामिल होने का अवसर मिला। यह महज संयोग ही रहा कि सांस्कृतिक घोषणा पत्र के जारी होने के कुछ ही दिनों बाद हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुद्ध पूर्णिमा के दिन नेपाल गए। वहाँ लुम्बिनी में जाकर भगवान बुद्ध की जयंती मनाई। माया मंदिर का शिलान्यास किया। साथ…
Read More
सांझा साहित्य- संस्कृति के संकल्प के साथ नेपाल- भारत महोत्सव का समापन

सांझा साहित्य- संस्कृति के संकल्प के साथ नेपाल- भारत महोत्सव का समापन

द्वितीय संस्करण को बैसाख की 16, 17, 18 तिथियों में आयोजित किया गया। काठमाण्डू : नेपाल भारत के साहित्यिक और सांस्कृतिक सम्बन्धों के नए आयाम को परिभाषित करते हुए तीन दिवसीय महोत्सव का समापन काठमांडू में सम्पन्न हुआ। नेपाली तिथियों के अनुसार साहित्य महोत्सव के द्वितीय संस्करण को बैसाख की 16, 17, 18 तिथियों में आयोजित किया गया। इस महोत्सव में दोनों देश के साहित्य और कलाकारों ने संयुक्त संस्कृति की छंटा बिखेरी तो दोनों देशों के 51 वरिष्ठ साहित्यकारों को सम्मानित किया गया।    मेरठ लिटरेचर फेस्टिवल, क्रांतिधरा साहित्य अकादमी और ग्रीन केयर सोसाइटी हाऊस मेरठ, भारत से आयोजक…
Read More
नेपाल-भारत साहित्य महोत्सव को यादगार बनाने पहुंचे जाने-माने साहित्यकार

नेपाल-भारत साहित्य महोत्सव को यादगार बनाने पहुंचे जाने-माने साहित्यकार

तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय नेपाल भारत साहित्य महोत्सव का उद्देश्य दोनों देशों के मध्य आपसी समरसता बढाना नेपाल-काठमांडु:काठमांडू नेपाल में शुक्रवार से शुरू होने वाले तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय नेपाल भारत साहित्य महोत्सव के आयोजक डा विजय पंडित ने बताया कि द्वितीय नेपाल भारत साहित्य महोत्सव,काठमांडू , नेपाल के पशुपति भवन में आयोजित किया जा रहा है। पिछली बार की तरह ही इस बार भी यह आयोजन तीन दिवसीय रहेगा लेकिन इस बार अंतरराष्ट्रीय कोविड प्रोटोकॉल,कोरोना की चौथी लहर की आहट से  से सहभागिता सिमित रखी गई है। क्रांतिधरा साहित्य अकादमी, मेरठ,उत्तर प्रदेश,भारत द्वारा नेपाल पर्यटन बोर्ड के सहयोग से काठमांडू नेपाल…
Read More
भरोसे की राह पर भारत और नेपाल

भरोसे की राह पर भारत और नेपाल

अरविंद जयतिलक भारतीय नववर्ष और नवरात्र के पवित्र अवसर पर नेपाल के प्रधानमंत्री शेरबहादुर देउबा की भारत यात्रा दोनों देशों के सदियों पुराने संबंधों को मिठास से भर देने वाला है। नेपाल के प्रधानमंत्री की यात्रा ऐसे समय में हुई है जब पड़ोसी देश श्रीलंका आपातकाल, हिंसक प्रदर्शन और आर्थिक संकट के चपेट में है। उसे आर्थिक मदद की दरकार है और भारत उसके साथ मजबूती से खड़ा है। भारत ने श्रीलंका की मदद कर रेखांकित कर दिया है कि पड़ोसियों से उसके रिश्ते गंगा और हिमालय की तरह अटूट और पवित्र हैं। इसे चीन और पाकिस्तान सरीखे षड़यंत्रकारी चटका…
Read More