Latest news : आर्थिक : शेयर बाजार हुआ धड़ाम, सेंसेक्स 500 अंक और निफ्टी 168 अंक नीचे| कानून : केजरीवाल को 2 जून को करना होगा सरेंडर, SC ने नहीं स्वीकारी अंतरिम जमानत बढ़ाने की याचिका| राजकोट TRP गेम जोन केस: 5वें आरोपी किरीट सिंह जडेजा को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार| जम्मू-कश्मीर : पुंछ में LoC के पास संदिग्ध पाक ड्रोन पर BSF ने की फायरिंग| छिंदवाड़ा: एक ही परिवार के 8 लोगों की कुल्हाड़ी मार कर हत्या, हत्यारे ने की खुदखुशी|

मत सम्मत

मीडिया ही लगा सकता है स्त्रियों के अपमानजनक चित्रण पर रोक : साध्वी प्रज्ञा भारती

मीडिया ही लगा सकता है स्त्रियों के अपमानजनक चित्रण पर रोक : साध्वी प्रज्ञा भारती

 - मीडिया शब्दकोश परियोजना का अन्तराष्ट्रीय आभासी सम्मेलन नोएडा | विख्यात आध्यामिक गुरु साध्वी प्रज्ञा भारती ने कहा है कि सोशल मीडिया और संचार के अन्य माध्यमों पर स्त्रियों का जो अपमानजनक चित्रण हो रहा है, उस पर कानूनी कार्रवाई के साथ मीडिया सजगता फैलाने से ही रोक लग सकती है। सजगता फैलाने के लिए मीडिया साक्षरता के बारे में नवीं कक्षा से ही पढ़ाया जाना चाहिए। वह मीडिया शब्दकोश परियोजना के तीन साल पूरा होने के मौके पर आयोजित अन्तराष्ट्रीय आभासी सम्मेलन को सम्बोधित कर रहीं थी। इस सम्मेलन में अमरीका, भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश के मीडिया विशेषज्ञों ने…
Read More
वो विद्रोही नेता जो विचार बन गया… फिदेल कास्त्रो

वो विद्रोही नेता जो विचार बन गया… फिदेल कास्त्रो

लेखक : दिलीप कुमार क्यूबा क्रांति से पहले फिदेल कास्त्रो अधिवक्ता थे, जिनकी कोई ख़ास पहिचान नहीं थी..समृद्ध परिवार में जन्मे फिदेल कास्त्रो चाहते तो आराम से अपना जीवन गुज़ार सकते थे, लेकिन कुछ लोग इतिहास लिखने के लिए ही पैदा होते हैं. यही कारण रहा विद्रोही स्वभाव के फिदेल कास्त्रो क्रांति करने से पहले अमेरिकी समर्थित 'फुल्गेंकियो बतिस्ता' तानाशाह के खिलाफ 1952 के चुनाव में खड़े हो गए.  निरंकुशता को आंख दिखाना हर किसी के बस की बात नहीं होती.  इससे पहले जनता वोट कर पाती, वोटिंग खत्म कर दी गई. तानाशाही चुनाव नहीं चाहती, हालांकि लोकतंत्र का भ्रम…
Read More
राजा भैया से तलाक में भानवी सिंह ने अर्ज़ी दाखिल कर की मध्यस्थता की मांग

राजा भैया से तलाक में भानवी सिंह ने अर्ज़ी दाखिल कर की मध्यस्थता की मांग

प्रतापगढ़ की कुंडा तहसील के विधायक राजा भैया और उनकी पत्नी भानवी कुमारी के बीच तलाक मामले में विवाद बढ़ता ही जा रहा है। राजा भैया की पत्नी भानवी कुमारी ने दिल्ली की साकेत कोर्ट में आज अपनी ओर से जवाब दाखिल किया है। कोर्ट ने इस मामले में अगली तारीख देते हुए सुनवाई के लिए 17 अक्टूबर का दिन मुकर्रर किया है। भानवी कुमारी सिंह ने अर्ज़ी दाखिल कर तलाक के मामले को मध्यस्थता के लिए मांग किया है। इसके पहले जनसत्ता दल प्रमुख राजा भैया ने पत्नी भानवी कुमारी से तलाक लेने के लिए दिल्ली साकेत कोर्ट में…
Read More
सुलगते फ़्रांस में योगी की कानून व्यवस्था की डिमांड

सुलगते फ़्रांस में योगी की कानून व्यवस्था की डिमांड

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कानून व्यवस्था के दीवाने देश ही नहीं बल्कि दुनियां के विकसित देश माने जाने वाले फ़्रांस में भी हैं| फ़्रांस इन दिनों हिंसा की आग में सुलग रहा है| जिसको शांत करने के लिए वहां के लोग उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मांग कर रहे हैं|क्योंकि लोगों को विश्वास है कि योगी फ़्रांस में जारी हिंसा को रोक सकते हैं| गौरतलब है कि फ्रांस की राजधानी पेरिस में पुलिस की गोली से युवक की मौत हो गई थी। मंगलवार को पेरिस के उपनगर नैनटेरे शहर में यातायात उल्लंघन के लिए युवक को…
Read More
विवादों के बीच राहुल गांधी का मणिपुर दौरा, प्रभावितों से मिलें

विवादों के बीच राहुल गांधी का मणिपुर दौरा, प्रभावितों से मिलें

विवादों के बीच कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का मणिपुर दौरा जारी है| दो दिवसीय दौरे के पहले दिन जहाँ जब राहुल मणिपुर पहुंचे तो बिष्णुपुर में उनका काफिला रोक दिया गया। केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों की हरी झंडी के बाद अब राहुल गाँधी प्रभावित लोगों से मिलने के लिए मोइरांग पहुंचे| यहाँ पर लोगों से बातचीत की|   उधर असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के मणिपुर दौरे पर कहा कि राज्य में स्थिति करुणा के जरिए मतभेदों को दूर करने की मांग करती है, न कि किसी नेता के दौरे से मतभेद…
Read More
एकबार फिर सुप्रीम कोर्ट ने बुलंद की देश की आवाज

एकबार फिर सुप्रीम कोर्ट ने बुलंद की देश की आवाज

आर्टिकिल 19 A यानी अभिव्यक्ति की आजादी हमेशा ही बहस का मुद्दा रही है| जहाँ एक ओर कहा गया है दूसरे की नाक शुरू होते ही आपके बोलने की आजादी समाप्त हो जाती है| वहीँ ‘बोल के लब  आजाद हैं तेरे’ जैसे नारों के जरिये क्रांति की नई अलख जगाई जाती है| देश में सुप्रीम कोर्ट के ताजा आदेश के बाद एकबार अभिव्यक्ति की आजादी चर्चा में है| सुप्रीम कोर्ट ने अभिव्यक्ति की आजादी को लेकर हाल ही मलयाली न्यूज़ चैनल पर लगा बैन हटा दिया है| ये बैन सरकार  ने लगाया था| सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सरकार…
Read More
महिला सम्मान पर ‘हमला’ करते विज्ञापन

महिला सम्मान पर ‘हमला’ करते विज्ञापन

लेखक : डॉ आलोक चांटिया भारतीय टेलीविजन में दिखाए जाने वाले विज्ञापन लगातार महिला की गरिमा सम्मान के विरुद्ध करते हैं कार्य और दिखाते हैं महिला के मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण का गलतफहमी अपने को देशभक्त बताने वाले और महिलाओं के नाम पर पैडमैन जैसी पिक्चर बना कर सुर्खियां बटोरने वाले अक्षय कुमार के पुरुषों के अंडर गारमेंट के विज्ञापन मे दिखाए जाते हैं जिसमें जब  एयरपोर्ट पर कस्टम अधिकारी उनको पूछती है कि डालर कहां है तो अपनी बुद्धि का परिचय देते हुए श्रीमान अक्षय कुमार अपने अंडर गारमेंट को दिखाते हैं कि कलर यहां हैं उसके बाद और अधिक सोचनीय…
Read More
भाषा नहीं संस्कृति आधारित हो राज्यों का गठन

भाषा नहीं संस्कृति आधारित हो राज्यों का गठन

अमित त्यागी  आज भारत में भाषा की असमता स्पष्ट दिखती है। संतोष का विषय यह है कि अंग्रेज़ी-निपुण कहलाने वाला वर्ग भी एक देशप्रेमी भारतीय वर्ग है। पर उसे अपनी भिन्नता पर सामान्य से कुछ अधिक गर्व है। उसकी मानसिकता पूर्णरूप से विदेशी उपनिवेशक जैसी तो नहीं है  किन्तु वह असमता के पिरामिड की चोटी पर स्वयं को पा कर प्रसन्न है। अँग्रेज़ी भाषियों की संख्या भारत में अति सूक्ष्म है। जो अँग्रेज़ी में स्वयं को निपुण मानते है। इस वर्ग के पास अनुपात से कही अधिक संपत्ति, साधन, चातुर्य व राजनीतिक प्रभाव है। अमरीकी व यूरोपीय विश्वविद्यालयों में शिक्षा…
Read More
अमृतकाल में निकलेगा मीडिया के संमुद्र मंथन से होगा भारत अभ्युदय

अमृतकाल में निकलेगा मीडिया के संमुद्र मंथन से होगा भारत अभ्युदय

मीडिया में सकारात्मक और नकारात्मक दोनों पक्षों पर समुद्र मंथन यहाँ चल रहा है! यह अवश्य ही अमृतकाल में भारत अभ्युदय को लेकर हमें संकल्पित करेगा। मीडिया चौपाल 2022 में देश भर से आए मीडिया कर्मियों ने यह चिंतन किया!   एनआईटीटीटीआर-चंडीगढ़ में आयोजित तीन दिवसीय मीडिया चौपाल के मुख्य अतिथि केन्द्रीय राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि “सेल्फ, सेल्फी और सेल्फिश पत्रकारिता के दौर में जो प्रयास मीडिया चौपाल ने किया है, वह महत्वपूर्ण है। सकारात्मक और नकारात्मक दोनों पक्षों पर जो समुद्र मंथन यहाँ चल रहा है, वह अवश्य ही अमृतकाल में भारत अभ्युदय को लेकर हमें…
Read More
एनआईटीटीटीआर-चंडीगढ़ में लगेगा मीडिया चौपाल- 2022

एनआईटीटीटीआर-चंडीगढ़ में लगेगा मीडिया चौपाल- 2022

'मीडिया चौपाल' संचारकर्मियों के वैचारिक आदान-प्रदान का एक सशक्त माध्यम है। मीडिया और समाज के सम्बन्धों को सुदृढ़ बनाने के लिए वर्ष 2012 में 'मीडिया चौपाल' की शुरुआत हुई थी। तब से यह चौपाल अलग-अलग जगह लग रहा है और संचारविदों के ज्ञान एवं अनुभव से सबको लाभान्वित कर रहा है। इस वर्ष के 'मीडिया चौपाल' का आयोजन दि. 02 से 04 दिसंबर, 2022 को राष्ट्रीय तकनीकी शिक्षक प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान (एनआईटीटीटीआर) चंडीगढ़ में होगा और विचार-विमर्श का केन्द्रीय विषय “अमृतकाल में भारत अभ्युदय : चुनौतियाँ एवं संकल्प” है। इस चौपाल में लद्दाख से लक्षद्वीप तक के संचारक शामिल…
Read More