Latest news : आर्थिक : शेयर बाजार हुआ धड़ाम, सेंसेक्स 500 अंक और निफ्टी 168 अंक नीचे| कानून : केजरीवाल को 2 जून को करना होगा सरेंडर, SC ने नहीं स्वीकारी अंतरिम जमानत बढ़ाने की याचिका| राजकोट TRP गेम जोन केस: 5वें आरोपी किरीट सिंह जडेजा को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार| जम्मू-कश्मीर : पुंछ में LoC के पास संदिग्ध पाक ड्रोन पर BSF ने की फायरिंग| छिंदवाड़ा: एक ही परिवार के 8 लोगों की कुल्हाड़ी मार कर हत्या, हत्यारे ने की खुदखुशी|

रंगमंच

बिना बोले मनुष्यता का पाठ पढ़ा गए चार्ली चैप्लिन

बिना बोले मनुष्यता का पाठ पढ़ा गए चार्ली चैप्लिन

लेखक : दिलीप कुमार ब्रिटेन में भी सामजिक असंतुलन था, लगभग पूरी दुनिया में ब्रिटेन की हुकुमत थी, दुनिया भर से लूट-लूटकर जमा की गई संपत्ति के बाद भी ब्रिटेन में अति गरीबी थी. सामाजिक अर्थिक असंतुलन ऐसा कि अमीर और रईस होते चले जा रहे थे, वहीँ गरीब और गरीब हो रहे थे. इसी गरीबी में पैदा हुआ एक ऐसा नायक जिसने फ़िल्मों में बिना बोले ही पूरी दुनिया को मनुष्यता का पाठ पढ़ा गए. एक ऐसा नायक जो बिना बोलती हुई फ़िल्मों का निर्माण करता था, लेकिन तानाशाह सत्ताधीशों को अपनी कला के माध्यम से चुनौती भी देता…
Read More
मीडिया चौपाल में होगी सुप्रसिद्ध लोक गायिका विजया भारती की प्रस्तुति

मीडिया चौपाल में होगी सुप्रसिद्ध लोक गायिका विजया भारती की प्रस्तुति

नई दिल्ली। चंडीगढ़ में हो रही मीडिया चौपाल-2022 के दौरान सांस्कृतिक संध्या में लोकप्रिय लोकगायिका विजया भरती की प्रस्तुतियों का आनंद ले सकेंगे। सुप्रसिद्ध लोक गायिका विजया भारती किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। उन्होंने केवल अपनी संस्कृति, संस्कार और माटी से जुड़े गीतों को ही अपनी गायकी का हिस्सा बनाया है। बिहार, उत्तर प्रदेश के साथ ही मॉरीशस, नेपाल, फिजी, सूरीनाम के प्रवासी भोजपुरिया लोगों में उनके गाए छठ गीत बेहद मशहूर हैं। मैथिली संस्कृति से सम्बद्ध रखने वाली विजया भारती को भोजपुरी गायिकी में विशेष सम्मान मिला है।
Read More
जलियावाला बाग़ फाइल्स : प्ले की कहानी, नाटककार की जुबानी

जलियावाला बाग़ फाइल्स : प्ले की कहानी, नाटककार की जुबानी

लेखक व निर्देशक : विपिन कुमार जलियावाला बाग़, हमेशा से ही मेरे लिए एक भारतीय होने के नाते एक भावुक  रहा है! मेरा जन्म अमृतसर में हुआ, वहीँ मेरी शिक्षा हुई, बचपन बीता, मै जवान हुआ! थिएटर सीखा! Jallianwalan bagh के बारे में मैं हमेशा सोचता रहा हूँ कि वो कितना दर्दनाक दृश्य होगा जब डायर ने गोली चलवा कर निर्दोष लोगों को मार डाला था! हमारी  फिल्मों या नाटकों में भी आख़िर किसी तरह की चर्चा या इस घटना के कारणों पर कोई ज़्यादा काम नहीं किया गया! मैं ये जानना चाहता था कि क्या कारण थे,इस हत्याकांड के…
Read More
कला उत्सव में भारतीय संस्कृति के रूपों पर प्रस्तुति

कला उत्सव में भारतीय संस्कृति के रूपों पर प्रस्तुति

एक्सपो के तहत मोनाल उत्तरांचल पूर्वांचल कला उत्सव के समापन समारोह में कलाकारों ने भारतीय संस्कृति के विभिन्न स्वरूपों पर प्रस्तुति देकर समा बांध किया। समारोह की सांस्कृतिक संध्या वरिष्ठ कलाकार राकेश कुकरेती को समर्पित की गई। मुख्य अतिथि डॉक्टर मीरा माथुर रजिस्टर भातखंडे विद्यापीठ व डॉक्टर अजय कुमार सिंह रावत वरिष्ठ वैज्ञानिक एनबीआरआई ने दीप प्रज्वलन किया।फिल्म निर्माता-निर्देशक मुनालश्री विक्रम बिष्ट ने स्वर्गीय राकेश कुकरेती के बारे में बताया कि वह एक बहुत अच्छी बहुमुखी प्रतिभा के धनी कलाकार व सभी विधाओं के ज्ञाता रहे। 1975 से हमारे साथ रंगमंच से जुड़े रहे। दूरदर्शन में कार्यरत रहकर भी समाज…
Read More
मुनाल पूर्वांचल उत्तरांचल कला उत्सव में भोजपुर के रंग

मुनाल पूर्वांचल उत्तरांचल कला उत्सव में भोजपुर के रंग

लखनऊ एक्सपो के तहत कथा मैदान आशियाना में न्यू कानपुर यूथ क्लब के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है. सांस्कृतिक मंच का सातवां दिन भोजपुरी के सुप्रसिद्ध लोक गायक बालेश्वर को समर्पित किया गया. इस अवसर पर मुख्य अतिथि सुप्रसिद्ध कवित्री रेखा रावत बोरा व यश भारती लोक गायिका ऋचा जोशी ने दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया. मेला संयोजक मुनालश्री विक्रम बिष्ट ने 1978 से बालेश्वर जी के साथ बिताए लम्हों को याद किया उनकी गायकी का अंदाज आज भी लोग याद करते हैं और गाते हैं कई मंचों पर हमारे साथ उन्होंने कार्यक्रम प्रस्तुत किया इस…
Read More
किसके हुए वीरदास, समूचे भारत के या?

किसके हुए वीरदास, समूचे भारत के या?

विभूति मिश्र सोशल मीडिया में अभी मशहूर स्टेंडअप कॉमेडियन वीर दास खासे चर्चा में हैं, वीरदास अपनी एक कविता को लेकर सोशल मीडिया पर जबरदस्त तरीके से ट्रोल भी हो रहे हैं और प्रशंसा भी पा रहे हैं, कॉमेडियन वीर दास ने दो भारत नाम की कविता अमेरिका के वॉशिंगटन डीसी में एक शो के दौरान पढ़ी है। पहले वीरदास की कविता के मुख्य अंश को जानते हैं और साथ ही उस पर विश्लेषण करते हैं। वीरदास कहते हैं: "मैं एक उस भारत से आता हूं, जहां बच्चे एक दूसरे का हाथ भी मास्क पहन कर पकड़ते हैं, लेकिन नेता…
Read More
मुनाल उत्तरांचल- पूर्वांचल कला उत्सव में बिखरे कला के सतरंग

मुनाल उत्तरांचल- पूर्वांचल कला उत्सव में बिखरे कला के सतरंग

लखनऊ एक्सपो में आयोजित मुनाल उत्तरांचल पूर्वांचल कला उत्सव के तहत आज की संध्या सुप्रसिद्ध पत्रकार श्यामाचरण काला जी को समर्पित की गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय प्रवक्ता किसान नेता ठाकुर तारा सिंह बिष्ट व डॉक्टर विकास श्रीवास्तव ने दीप प्रज्वलन कर सांस्कृतिक संध्या का उद्घाटन किया। मेला संयोजक मुनालश्री विक्रम बिष्ट ने दोनों का स्वागत आभार करते हुए प्रसिद्ध पत्रकार स्वर्गीय श्यामाचरण काला जी के साथ के क्षणों को याद किया। उन्होने कहा कि काला जी ने पत्रकारिता के विशिष्ट मानदंड स्थापित किए। पत्रकारिता के उस दौर में पत्रकारों का विशेष सम्मान था। आज भी पत्रकारीय मूल्यों को…
Read More
नाटक के जरिये दिखाई अटल जी की जीवन यात्रा

नाटक के जरिये दिखाई अटल जी की जीवन यात्रा

पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्री अटल बिहारी बाजपेई की तृतीय पुण्यतिथि पर "मेरी यात्रा अटल यात्रा" नाटक का मंचन किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अटल जी को अजातशत्रु बताते हुए कहा कि उनका जीवन राष्ट्र को समर्पित था। उन्होने कहा कि आज अटल जी के सिद्धांतों की तरह मूल्यों कि राजनीति होनी चाहिए। उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री बृजेश पाठक के मार्गदर्शन व सौजन्य से आयोजित एकल नाटक "मेरी यात्रा अटल यात्रा" का लेखन व निर्देशन चंद्रभूषण सिंह बॉलीवुड एक्टर, प्रोड्यूसर व डायरेक्टर ने किया। जो पहले पंडित दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद दर्शन पर…
Read More
अभिनय की पाठशाला : सामने होकर भी अदृश्य होना

अभिनय की पाठशाला : सामने होकर भी अदृश्य होना

विपिन कुमारभारतीय रंगमंच अभिनेता, निर्देशक, लेखक क्या बिना शरीर के अभिनय हो सकता है?  यह प्रश्न उन के लिए जो अभिनय सीखने के माहौल में न केवल अपने शरीर का उपयोग करते हैं बल्कि उनको  विचार करना पड़ता है कि भविष्य में वो अपने को स्वस्थ शरीर और अभिनेता के रूप में कहां देखना चाहते हैं ।  इसका कारण यह है कि सीखने और सिखाने की प्रक्रिया में शरीर का महत्व है,सवाल किया जाना चाहिए कि जीवन में लगातार कहाँ जाना है। एक सामाजिक प्राणी के रूप में, व्यक्ति एक रिश्ते में है ,अपने शरीर के माध्यम से अन्य प्राणियों…
Read More