Latest news : आर्थिक : शेयर बाजार हुआ धड़ाम, सेंसेक्स 500 अंक और निफ्टी 168 अंक नीचे| कानून : केजरीवाल को 2 जून को करना होगा सरेंडर, SC ने नहीं स्वीकारी अंतरिम जमानत बढ़ाने की याचिका| राजकोट TRP गेम जोन केस: 5वें आरोपी किरीट सिंह जडेजा को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार| जम्मू-कश्मीर : पुंछ में LoC के पास संदिग्ध पाक ड्रोन पर BSF ने की फायरिंग| छिंदवाड़ा: एक ही परिवार के 8 लोगों की कुल्हाड़ी मार कर हत्या, हत्यारे ने की खुदखुशी|

तकनीकी

वायुसेना :  गरुड़ प्रशिक्षण केंद्र पर मैरून बेरेट सेरेमोनियल परेड

वायुसेना :  गरुड़ प्रशिक्षण केंद्र पर मैरून बेरेट सेरेमोनियल परेड

वायु सेना के विशेष बल 'गरुड़' कमांडो के सफल प्रशिक्षण के समापन समारोह का उत्सव मनाने के लिए 18 मई, 2024 को चांदीनगर के वायुसेना स्टेशन में गरुड़ रेजिमेंटल प्रशिक्षण केंद्र (जीआरटीसी) पर मैरून बेरेट सेरेमोनियल परेड आयोजित की गई थी। पश्चिमी वायु कमान के वरिष्ठ वायु कर्मचारी अधिकारी एयर मार्शल पीके वोहरा ने इस परेड का निरीक्षण किया। समीक्षा अधिकारी ने गरुड़ कमांडो को उनके सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूरा करने पर बधाई दी। उन्होंने बदलते सुरक्षा परिदृश्य के साथ तालमेल बनाए रखने के लिए विशेष बलों के कौशल को आवश्यक प्रशिक्षण के साथ निखारने के महत्व पर जोर दिया। एयर…
Read More
जीआई पंजीकरण तीन गुना बढ़ा : एक वर्ष में एक लाख पेटेंट

जीआई पंजीकरण तीन गुना बढ़ा : एक वर्ष में एक लाख पेटेंट

डिज़ाइन और कॉपीराइट पंजीकरण अपने उच्चतम स्तर पर  पेटेंट नियम, 2024 को आधिकारिक तौर पर अधिसूचित कर दिया गया है, जो इनोवेशन और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने की दिशा में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है। ये नियम पेटेंट प्राप्त करने और मैनेज करने की प्रक्रिया को सरल बनाने के उद्देश्य से कई प्रावधान पेश करते हैं, जिससे इनवेंटर्स और क्रिएटर्स के लिए अनुकूल वातावरण की सुविधा मिलती है। विकसित भारत संकल्प को पूरा करने के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी के माध्यम से देश के आर्थिक विकास को गति देने की उम्मीद है।  संशोधित नियमों की कुछ मुख्य विशेषताएं…
Read More
 साइबर अपराध  रोकने के लिए डॉट का डिजिटल इंटेलिजेंस प्लेटफॉर्म लॉन्च

 साइबर अपराध  रोकने के लिए डॉट का डिजिटल इंटेलिजेंस प्लेटफॉर्म लॉन्च

संदिग्ध धोखाधड़ी संचार की सूचनाएं दर्ज करने के लिए संचार साथी पोर्टल (https://www.sancharsathi.gov.in) पर 'चक्षु' सुविधा शुरू हुई केंद्रीय संचार, रेल और इलेक्ट्रोनिक्स तथा सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव ने संचार राज्य मंत्री श्री देवुसिंह चौहान की उपस्थिति में साइबर अपराध और वित्तीय धोखाधड़ी में दूरसंचार संसाधनों के दुरुपयोग को रोकने के उद्देश्य से हितधारकों के बीच समन्वय के लिए दूरसंचार विभाग (डीओटी) के 'डिजिटल इंटेलिजेंस प्लेटफॉर्म (डीआईपी)' लॉन्च किया और नागरिकों को संचार साथी पोर्टल (https://sancharsathi.gov.in) पर संदिग्ध धोखाधड़ी संचार की सक्रिय रूप से सूचना देने के लिहाज से सशक्त बनाने के लिए एक प्रमुख पहल 'चक्षु' सुविधा…
Read More
फिल्म निर्माताओं के लिए फायदे का सौदा डिजिटल संरक्षण

फिल्म निर्माताओं के लिए फायदे का सौदा डिजिटल संरक्षण

आज फिल्म निर्माताओं को अपनी फिल्म या फाइल आधारित प्रस्तुतियों को डिजिटल माध्यम में सुरक्षित रूप से संग्रहीत करने की लगातार सामने आ रही आवश्यकता का सामना करना पड़ रहा है। इस विषय पर विचार-विमर्श करने के लिए आज 54वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव, गोवा में ‘डिजिटल मोशन पिक्चर प्रिजर्वेशन’ पर एक मास्टरक्लास सत्र आयोजित किया गया। अनुभवी फिल्म रेस्टॉरेशन (पुनर्स्थापन) विशेषज्ञ और फिल्म इतिहासकार थियोडोर ई ग्लक के नेतृत्व में हुई मास्टरक्लास का उद्देश्य मोशन पिक्चर को डिजिटल प्रारूप में संरक्षित करने में ‘अकादमी डिजिटल प्रिजर्वेशन फोरम’ के प्रयासों पर जोर देना था। यह ‘अकादमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंसेज’ के तहत आने वाली विज्ञान और प्रौद्योगिकी परिषद की एक पहल है। अपने संबोधन में थियोडोर ई ग्लक ने मूल रचना के सौंदर्यशास्त्र को नुकसान न पहुंचाने के लिए पुनर्स्थापन पेशेवरों द्वारा अपनाए जाने वाले उत्कृष्ट संतुलन को रखांकित किया। उन्होंने कहा, “मूल काम की कलात्मक प्रामाणिकता और प्रयोजन को संरक्षित करते हुए डिजिटल संरक्षण की मांग को पूरा करना एक बड़ी चुनौती है। प्राथमिक लक्ष्य फिल्म को बदलने के बजाय उसमें सुधार करना होना चाहिए।” उन्होंने किसी भी पुनर्स्थापना परियोजना में फिल्म निर्माताओं के मूल कलात्मक प्रयोजन का सम्मान करने के महत्व को भी रेखांकित किया। मास्टर क्लास की मुख्य बातों में से एक पुनर्स्थापना और संरक्षण में आने वाली भारी लागत थी। उन्होंने विस्तार से बताते हुए कहा, “खर्च इस बात पर निर्भर करता है कि आप पुनर्स्थापना परियोजना के माध्यम से क्या हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं।” थिओडोर ने मानवीय हस्तक्षेप के व्यापक महत्व को रेखांकित करते हुए फिल्म संरक्षण के भविष्य में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की उभरती भूमिका को भी स्वीकार किया।
Read More
140 करोड़ भारतीयों की उम्मीदों ने छुआ चाँद, पीएम समेत पूरा देश गौरवान्वित

140 करोड़ भारतीयों की उम्मीदों ने छुआ चाँद, पीएम समेत पूरा देश गौरवान्वित

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि चंद्रयान-3 की सफलता भारतीयों की आकांक्षाओं और सामर्थ्‍य का प्रतिबिंब है। भारत ने वो कर दिखाया जो दुनियां का कोई भी देश अब तक नहीं कर सका| मिशन chandryan 3 भारतीयों की उम्मीदों पर खरा उतरा और हम चाँद के साउथ पोल पर पहुचने वाले पहले देश बन गए| अब हम नम्बर वन हैं| प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समेत पूरा देश उत्सव मना रहा है|  भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की ओर से एक्स पर की गई पोस्ट को साझा करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि “चंद्रयान-3 की सफलता 140 करोड़ भारतीयों की…
Read More
चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने वाला भारत दुनिया का एकमात्र देश होगा!

चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने वाला भारत दुनिया का एकमात्र देश होगा!

चंद्रमा पर तो अब तक अमेरिका, रूस और चीन अपनी उपस्थिति दर्ज कर चुके हैं लेकिन अगर सब ठीक रहा तो भारत चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने वाला भारत दुनिया का एकमात्र देश होगा। इसरो (भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन) के अध्यक्ष एवं अंतरिक्ष विभाग के सचिव डॉ. एस सोमनाथ ने केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिक (स्वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह से आज मुलाकात की और उन्हें 23 अगस्त 2023 की शाम में चंद्रयान-3 की चंद्रमा पर लैंडिंग की स्थिति और तैयारी के बारे में अवगत कराया। इसरो के…
Read More
22 साल पुराने कानून की जगह विश्व स्तरीय डिजिटल इंडिया अधिनियम

22 साल पुराने कानून की जगह विश्व स्तरीय डिजिटल इंडिया अधिनियम

डिजिटल व्यक्तिगत डेटा संरक्षण विधेयक एक विश्व स्तरीय कानून है: राज्य मंत्री श्री राजीव चंद्रशेखर केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता तथा इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री श्री राजीव चंद्रशेखर ने  बेंगलुरु में छात्रों, स्टार्टअप और राज्य के विशेष नागरिकों के साथ बातचीत में भाग लिया। सत्र के दौरान उन्होंने ऐतिहासिक डिजिटल व्यक्तिगत डेटा संरक्षण विधेयक बनने के पीछे की यात्रा को याद किया, जो इसकी शुरुआत से लेकर कानून के रूप में इसकी वर्तमान स्थिति तक की रूपरेखा तैयार करता है। उन्होंने 2010 में शुरू हुई अपनी यात्रा के अनुभवों को साझा किया, जिसमें उन्होंने बताया कि कैसे यूपीए…
Read More
मोबाइल कम्पनियों के ‘द की परफॉर्मेंस इंडिकेटर्स’ का मूल्यांकन

मोबाइल कम्पनियों के ‘द की परफॉर्मेंस इंडिकेटर्स’ का मूल्यांकन

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने दूरसंचार सेवा प्रदाताओं की सहायता से 20 स्थानों पर ड्राइव टेस्ट किए। बालासोर, इरोड, विजयानगरम, गंगटोक, आइजोल, दीमापुर, शिलांग, ईटानगर, जबलपुर, प्रयागराज, वायनाड, गांधीधाम और कांडला बंदरगाह, बीकानेर, अमृतसर, मैसूर, मैसूर-बेंगलुरु एचडब्ल्यू, जबलपुर-चाकघाट एचडब्ल्यू, प्रयागराज-बांदा एचडब्ल्यू, बीकानेर-नागौर एचडब्ल्यू और अमृतसर-पठानकोट एचडब्ल्यू में मार्च के अंतिम तिमाही में टेस्ट ड्राइव किए गए। आवाज और डेटा सेवाओं के लिए सेलुलर मोबाइल टेलीफोन सेवा प्रदाताओं द्वारा प्रदान की गई नेटवर्क गुणवत्ता का आकलन करने के लिए ड्राइव टेस्ट किए गए थे।   क्षेत्र में कार्यरत सभी दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के नेटवर्क के लिए ‘द की परफॉर्मेंस इंडिकेटर्स’…
Read More
भारत  टॉप थ्री 5जी इकोसिस्टम में शामिल, अब 6 जी की तैयारी

भारत  टॉप थ्री 5जी इकोसिस्टम में शामिल, अब 6 जी की तैयारी

भारत और अमेरिका मिलकर बनाएँगे टेक्नोलाजी दूरसंचार क्षेत्र उच्च तकनीकी और निरंतर विकसित होने वाला क्षेत्र है। इसने वायर-लाइन से लेकर मोबाइल सेवाओं तक का परिवर्तन देखा है, जो लोगों की जीवन रेखा बन गया है। मोबाइल सेवाओं में भी 2जी से 3जी, 4जी से 5जी में परिवर्तन देखा गया है और अब 6जी युग की दहलीज पर खड़ा है। सार्वभौमिक और किफायती कनेक्टिविटी के  प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने, स्वदेशी प्रौद्योगिकी विकसित करने, दूरसंचार और सेमीकंडक्टर विनिर्माण इको सिस्टम विकसित करने, 6जी प्रौद्योगिकी का नेतृत्व करने में, आज केंद्रीय रेल, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने…
Read More
एआई की खामियां दूरकर डिजिटल गुरु बन सकता है भारत

एआई की खामियां दूरकर डिजिटल गुरु बन सकता है भारत

मनीष शुक्ल   सूचना क्रांति का दौर बीत चुका है| अब बारी डिजिटल युग की है जिसका नेतृत्व भारत के हाथों में है| तमाम आशंकाओ को ख़ारिज करते हुए दुनियां आर्टिफिशयल इंटेलिजेंस यानी कृत्रिम मेधा को अपना रही है| कार्पोरेट जगत आज भारत की ओर देख रहा है| जिसकी बानगी है, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म ओपनएआई के सीईओ सैम ऑल्टमैन की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात| इसी सप्ताह सैम ने मुलाक़ात के बाद कहा कि पीएम मोदी एआई को लेकर उत्साहित हैं | भारत जिस तेजी से आगे बढ़ रहा है वो सबके लिए उम्मीद से भरा है| दूसरी ओर…
Read More